Passage Indexing या Paragraph Indexing क्या है?

चलिए जानते हैं की Passage Indexing Kya Hai aur Passage ya paragraph Indexing ke liye apne blog post ko optimize kaise kare, What is Paragraph Indexing

नमस्कार दोस्तों,Mrskt ब्लॉग में आपका स्वागत है,तो दोस्तों जैसा कि हम जानते हैं कि Google अपने एल्गोरिदम में बदलाव करता रहता है,हर बार की तरह इस बार भी गूगल ने अपने SERP को बेहतर बनाने के लिए Passage या Paragraph Indexing का एक नया एल्गोरिदम का प्रक्षेपण (Launch) किया है। इसलिए इस लेख में हम Passage Indexing Kya Hai? के बारे में बात करेंगे और हम लोग यह भी जानेंगे की Paragraph Indexing कैसे काम करता है? और Passage Indexing लिए अपने Webpage के पोस्ट को ऑप्टिमाइज़ कैसे करे तो इन सभी चीज़ों को जानने के लिए इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़े।

Passage Indexing क्या है?

Google अपनी SERP को बेहतर बनाने के लिए आये दिन नए एल्गोरिदम लॉन्च करता रहता है और इस बार Google ने पैराग्राफ या पैसेज इंडेक्सिंग लॉन्च किया है। जिसमें आपका ब्लॉग या वेबसाइट के पोस्ट के Paragraph को विश्लेषण किया जाएगा और उसे Search Result में दिखाया जाएगा और इसे “Passage  indexing या paragraph indexing कहते हैं“।

मतलब की अगर कोई भी प्रश्नों (Queries ) को  Google में Search किआ जायेगा और जितने भी उस Keyword (Queries)  से मिलता-जुलता वेबपेज होंगे  उसके  पैराग्राफ को anylyze किआ जायेगा  और जिसका ज्यादा अच्छा और सटीक उत्तर होगा,उसका सर्च रिजल्ट पेज में  सबसे ऊपर दिखेगा।

कुछ लोग अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर बड़े – बड़े लेख लिखते थे लेकिन अब उन्हें ज्यादा बड़ा लेख लिखने की जरूरत नहीं क्यूंकि अब आप छोटा ही लेख लिखियेगा लेकिन सटीक लिखियेगा फिर भी Google आपके पोस्ट को प्राथमिकता (Priority) देगा ।

Passage Indexing कैसे काम करता है?

Paragraph या Passage indexing जो Google Bot (artificial intelligence) के अनुसार काम करता है,जिसमें यह बॉट आपके वेबपेज कंटेंट के हर पैराग्राफ या पैसेज का विश्लेषण करेगा और किसी भी Queries के सर्च होने पर उससे संबंधित वेबपेजों में से जिसका ज्यादा सटीक मिलान होगा उसके पुरे Paragraph को सबसे ऊपर दिखायेगा ।एक पेज के वास्तविक Indexion की तुलना में Passage Index रैंकिंग को अधिक प्रभावित भी कर सकता है।

Paragraph Indexing कई सारी बातों पर निर्भर करता है। आपकी Content की गुणवत्ता के आधार पर यह अपडेट या तो आपकी Ranking को नुकसान भी पहुंचा सकता है या मदद कर सकता है।लेकिन आप उसकी चिंता न करें क्योंकि और नीचे मैं ये भी बताऊंगा की आप ‘Passage indexing के लिए अपने वेबसाइट के Content को कैसे Optimize करें?‘ तो आप भी उन्हें पढ़िए,हो सकता है ये आपके लिए उपयोगी हो।

Passage indexing के लिए अपने वेबसाइट के Content को कैसे Optimize करें?

अब हम लोगों को पता होना चाहिए कि आप अपनी वेबसाइट के लेख में पैसेज इंडेक्सिंग को कैसे लागू कर सकते हैं। यदि हम ऐसा नहीं करते हैं, तो शायद भविष्य में आपके Post की रैंकिंग नीचे आ जाएगी। अपने लेख में पैसेज इंडेक्सिंग को लागू करने के लिए, नीचे दिए गए चरणों (Steps) का ध्यानपूर्वक पालन करें।

1.आपका वेब पेज मोबाइल फ्रेंडली और लोडिंग की गति भी तेज होना चाहिए।

दोस्तों, आजकल लगभग इंटरनेट उपयोगकर्ता मोबाइल का उपयोग करते हैं, ऐसी स्थिति में, Google उन्हीं वेब पृष्ठों को रैंकिंग में अधिक प्राथमिकता देगा जो मोबाइल डिवाइस में जल्दी और अच्छी तरह से खुलते हैं।यही कारण है कि आपको अपनी वेबसाइट पर उन्हीं थीम का उपयोग करना चाहिए जो उत्तरदायी (Responsive) हैं और लोडिंग की गति भी तेज है।

2.अपने मुख्य कीवर्ड को हाइलाइट रखें।

आपलोग जब भी कोई ब्लॉग या website में अगर कभी भी पोस्ट लिखते हैं तो आप कोशिश कीजिये की उसमे अपना मुख्य keyword जरूर डालें और उस keyword को Bold,Italic,Underline जरूर करें।इससे Google को आपके लेख का विषय पता चल जाएगा और आपकी लेख रैंकिंग में सुधार होगा।

3.अपनी पोस्ट की Content को Readable बनाएं।

पोस्ट लिखते समय अपने व्याकरण (Grammer) का विशेष रूप से ध्यान रखें और किसी भी अनुच्छेद के वाक्यों और शब्दों को गलत न लिखें। क्योंकि अगर google आपके कंटेंट को नहीं समझेगा कि आपकी पोस्ट का विषय क्या है, तो आपकी पोस्ट रैंक कैसे होगी। एक बात का ध्यान रखें कि वहां कीवर्ड प्लेस न करें जहाँ उचित न हो हमेशा अपने कीवर्ड को स्मार्ट तरीके से प्लेस करें,नहीं तो आपका पोस्ट पढ़ने योग्य नहीं रहेगा और गूगल आपकी पोस्ट की योग्यता को नहीं पहचान पायेगा।

4.समान टैग (h2,h3,h3,etc) का उपयोग करें।

दोस्तों अगर आप “How To “,”कैसे करे “,”Step by Step” इस प्रकार का पोस्ट लिखते हैं,तो उनके Heading में एक ही तरह का टैग का इस्तेमाल करे जैसे की अगर आपने पहले steps में h2 का प्रयोग किया है तो दूसरे में भी उसीका प्रयोग करें या अगर h3 का क्या है तो उन्हीं का करें।

5.पैराग्राफ में शब्दों की एक अच्छी मात्रा लिखें।

किसी भी पोस्ट का पैराग्राफ लिखते समय इस बात का ध्यान रखें कि आप उसमें न तो काम के शब्द लिखें और न ही ज्यादा ऐसे साधन लिखें जिनमें आपको सटीक उत्तर मिले यानि समझने में आसान हो। और एक बात यह है कि आप जिस किसी भी प्रश्न के बारे में लिख रहे हैं, उसका पूरा समाधान दें या उसे इस तरह से लिखें, जिसे समझना आसान हो।

निष्कर्ष

मैंने इस Post में आपको Passage Indexing kya hai और उसके Features के बारे में बताया है और आप comment करके बताएं कि आपको ये पोस्ट कैसा लगा। अगर आपको इससे संबंधित कोई समस्या है और आप सुझाव देना चाहते हैं तो नीचे टिप्पणी करें।